Justice News Line | Best News Channel

Logo
July 17, 2024 9:47 pm
Download

Advertisement

Search
Close this search box.
'चुनावी बॉन्ड दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला', FM निर्मला सीतारमण के अर्थशास्त्री पति का बड़ा बयान।-'चुनावी बॉन्ड दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला', FM निर्मला सीतारमण के अर्थशास्त्री पति का बड़ा बयान।-'चुनावी बॉन्ड दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला', FM निर्मला सीतारमण के अर्थशास्त्री पति का बड़ा बयान।-'चुनावी बॉन्ड दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला', FM निर्मला सीतारमण के अर्थशास्त्री पति का बड़ा बयान।-'चुनावी बॉन्ड दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला', FM निर्मला सीतारमण के अर्थशास्त्री पति का बड़ा बयान।-'चुनावी बॉन्ड दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला', FM निर्मला सीतारमण के अर्थशास्त्री पति का बड़ा बयान।-लालू ने बीमा भारती को किया पास, पप्पू को किया फेल? पूर्णिया में पप्पू यादव के साथ हो गया खेला!-लालू ने बीमा भारती को किया पास, पप्पू को किया फेल? पूर्णिया में पप्पू यादव के साथ हो गया खेला!-लालू ने बीमा भारती को किया पास, पप्पू को किया फेल? पूर्णिया में पप्पू यादव के साथ हो गया खेला!-लालू ने बीमा भारती को किया पास, पप्पू को किया फेल? पूर्णिया में पप्पू यादव के साथ हो गया खेला!
Latest News Religion

Shri Brihaspati Dev Ji Ki Aarti: सकल मनोरथ दायक, कृपा करो भर्ता ॥

Shri Brihaspati Dev Ji Ki Aarti: सनातन धर्म में बृहस्पति देव को सभी देवताओं के गुरु हैंं। गुरुवार के व्रत में बृहस्पति देव की आरती करने का विधान है, अतः आइए श्री बृहस्पति देव जी की आरती करें। जय वृहस्पति देवा, ऊँ जय वृहस्पति देवा । छिन छिन भोग लगा‌ऊँ, कदली फल मेवा ॥ ऊँ

Read More
Latest News Religion

महालक्ष्मी जी की आरती, जो कोई नर गाता…पाप उतर जाता। ॥

शुक्रवार के दिन भगवान विष्णु की अर्धांगिनी माता लक्ष्मी का आह्वान भक्तजन करते हैं। आइए माँ लक्ष्मी जी की आरती करते हैं। महालक्ष्मी नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं सुरेश्वरि । हरि प्रिये नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं दयानिधे ॥ पद्मालये नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं च सर्वदे । सर्वभूत हितार्थाय, वसु सृष्टिं सदा कुरुं ॥ ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता ।

Read More
Latest News Religion

सकल मनोरथ दायक…संतन सुखकारी, ऊँ जय बृहस्पति देवा।

सनातन धर्म में बृहस्पति देव को सभी देवताओं का गुरु माना जाता है। गुरुवार के व्रत में बृहस्पति देव की आरती करने का विधान है। आइए हम सब मिलकर श्री बृहस्पति देव की आरती करें। जय  बृहस्पति  देवा, ऊँ जय बृहस्पति देवा । छिन छिन भोग लगा‌ऊँ, कदली फल मेवा ॥ ऊँ जय बृहस्पति देवा,

Read More